अवैध कब्जों से परेशान फैक्टरी मालिको ने सांसद रमेश विधूड़ी को दिखाई समस्याएं

30 से 40 फुट चौड़ी सड़कों पर एनक्रोचमेंट यानि अतिक्रमण इस कदर बढ़  रहा है कि गाड़ी निकलना तो दूर की बात है  इंसान पैदल तक ठीक से नहीं निकल पाता। आप साफ तौर से  देख सकते हैं कि किस कदर सड़कों पर चारों तरफ कपड़ों औरकत्तरों का ढेर लगा है। चारों तरफ कपड़ो की कत्तरे रोड पर नजर  आ रही है मानो कि ये रोड नही बल्कि कोई बड़ा गोदाम है।ओखला इंडस्ट्रियल एरिया में रोड पर ही लोग अपना कारोबार खोल कर धड़ल्ले से अतिक्रमण फैला रहे हैं। यहां ये हाल सिर्फ एक गली का नही है बल्कि यहाँ की सभी गलियों का यही हाल है ओखला इन्डस्ट्रीयल ऐरिया में फैक्ट्री मालिकों का कहना है कि सालों से ये लोग लड़क पर ही अपनी दुकान लगा कर बैठ जाते हैं और इस बढ़ते एनक्रोचमेंट से सभी फैक्ट्री मालिक ही नहीं बल्कि आम जनता भी काफी परेशान है। एंक्रोचमेंट बढ़ाने वाले लोगो को ऐसा करने के लिए जब मना किया जाता है तो ये लोग गुण्डागर्दी और हाथापाई पर उतारू हो जाते है ऐसे में एंक्रोचमेंट  उद्योगपतियों के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है।

ओखला इंडस्ट्रियल एरिया में  बढ़ते हुए एनक्रोचमेंट के साथ यहां के कारोबरी अवैध पार्किग से भी परेशान है। ओखला चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज चेयरमैन अरुणपोपली और एसोसिएशन के प्रेजिडेंटपीडी शर्मा  ने  इस समस्या से निजात पाने के उपायो को लेकर चर्चा की जिसमें साउथ  दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी भी शामिल हुए।  सांसद के सामने ओखला फेस 1 और फेस 2 के उद्योगपति सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा  हुए और  अपनी परेशानियों कोसांसद रमेश विधुड़ी के सामने  रखा।

टिप्पणियाँ
Loading...