पुलिस का सिर दर्द बनी लूट की घटना को आखिरकार सुलझाया |

पूर्व में हुई लूट पुलिस के लिए सर दर्द बनी हुई थी, पुलिस के लिए ये लूट अहम इसलिए भी थी क्योकिआरोपियों ने दिन दहाड़े ओर पुलिस को चुनौती देते हुए और हथियारों के बल पर इस लूट को अंजाम दिया था। पुलिस ने भी इस लूट को चुनौती मानते हुए लूट की तफ्तीश शुरू की।साहिबाबाद में प्रेम ज्वेलर्स की दुकान में लूट करने वाले आरोपी पेशे बर अपराधी है गैंग का सरगना आरुष पहले भी रावलपिंडी में डकैती के मामले में जेल जा चुका है इस लूट की प्लाइनिग भी इसने जेल में ही की थी। जेल में आरुष की मुलाकात मनोज से हुई और मनोज ने आरुष को नवीन से मिलाया इसके बाद आरुष ने इस लूट में अपनी मौसी के लड़के योगेंद्र को भी शामिल किया वही योगेंद्र ने आरुष को विनीत से मिलाया। फिर शुरू हुई इस लूट को अंजाम देने की मास्टर प्लानिंग।आरुष ने लूट को अंजाम देने से पहले प्रेम ज्वेलर्स की बहुत बार रैकी भी की थी। रैकी के बाद लूट की फाइनलस्क्रिप्ट भी आरुष ने ही लिखी थी। जब आरोपी दुकान पर पहुंचे तो इन लोगो ने दुकान में मौजूद सभी लोगो को गन पॉइंट पर लेकर दुकान में रखे सभी महंगे आभूषणों ओर कैश लूट लिया और फरार हो गए

टिप्पणियाँ
Loading...