सावधान ! चुनाव में यहां नहीं होगा आपका इलाज

अगर आप बिमार हो जाएं तो भूल कर भी सरकारी अस्पताल का रुख ना करें। क्योंकि सरकारी अस्पतालों में आपको ना तो डॉक्टर्स मिलेंगे और ना ही कर्मचारी। जी हां सही सुना इस वक्त सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स और कर्मचारी नादारद दिखते हैं। वजह लोकसभा चुनाव 2019 ! अब आप सोच रहे होंगे की आखिर चुनावों का अस्पतालों से क्या लेने तो हम आपको बता दें की लोकसभा चुनाव 2019 में पूरे उत्तर प्रदेश में सभी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी की ड्यूटी लगी है

और सभी डॉक्टर और पैरामेडिकल टीम इसके लिये ट्रेनिंग के लिए गए हैं।जिसका खामियाज़ा अस्पताल में आने वाले मरीज़ों को भुगतना पड़ रहा है। इस संबंध में हमारी टीम ने सीएमओ गाजियाबाद से बात की तो उन्होंने ये बात मानी की सभी डॉक्टर और पैरामेडिकल टीम ट्रेनिंग के लिए गए हैं। जिसके कारण मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

सीएमओ ने ये बताया की इस मामले में जिलाधिकारी से इस बारे में बात की जा रही है ताकि कुछ डॉक्टरों की ड्यूटी इमरजेंसी वार्ड में लगाए जाए ताकि मरीजों को राहत मिल सके।

टिप्पणियाँ
Loading...