मिल गए AIRSTRIKE के सबूत || मीडिया का बालाकोट दौरा

बालाकोटएयरस्ट्राइक के 43 दिन बाद पाकिस्तानी सेना ने अंतरराष्ट्रीय मीडियाकर्मियोंकी टीम और विदेशी राजनयिकों को मदरसे और उसके आस-पास के इलाके का दौरा कराया. भारत ने यहीं पर जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया था। हालांकि, एयरस्ट्राइक के बाद काफी दिनों तक यहां पर पत्रकारों के आने पर रोक थी। साथ ही स्थानीय लोगों की आस-पास आवाजाही भी मना थी। अब 43 दिन बाद पत्रकारों और राजनयिकों की टीम बालाकोट के मदरसे में पहुंची। जानकारी के मुताबिक समूह मदरसे के भीतर पहुंचा तो वहां 12-13 साल के करीब 150 बच्चे मौजूद थे और उन्हें कुरान पढ़ाई जा रही थी। टीम का यह दौरा करीब 20 मिनट तक चला और उन्हें तस्वीरें लेने की इजाजत दी गई। इस दौरान पत्रकारों ने कुछ टीचरों से बात भी की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस दौरान पत्रकारों ने जब स्थानीय लोगों से बात करने की कोशिश की तो उनसे कहा गया।

टिप्पणियाँ
Loading...