जाते जाते भी बहुत कुछ दे गए मांगे राम गर्ग

दिल्ली भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और वजीरपुर विधानसभा के पूर्व विधायक मांगेराम गर्ग अब हमारे बीच नहीं रहे। दिल्ली के एक्शन बालाजी हॉस्पिटल में आखिरी साँस ली। गर्ग 83 वर्ष के थे। निधन की सूचना मिलते ही अस्पताल में रिश्तेदारों और जानकारों का तांता लग गया। मांगे राम गर्ग का नाम बीजेपी और संघ के बड़े नेताओं में लिया जाता है।

बता दें कि सोमवार ( 15 जुलाई ) शाम 6 बजे उन्हें ब्रेन की शिकायत पर एक्शन बालाजी हॉस्पिटल लाया गया था। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की काफी कोशिश की लेकिन असफल रहे। गर्ग ने अपना देहदान कर रखा था इसलिए दधीचि देहदान समिति के माध्यम से उनके पार्थिव शरीर को एम्स या किसी बड़े अस्पताल में भेजा जाएगा।

स्व. मांगे राम गर्ग दिल्ली प्रदेश बीजेपी के दो बार प्रदेश अध्यक्ष और वज़ीर पुर से विधायक भी रह चुके हैं। उनेक अध्यक्ष रहते हुए भाजपा दिल्ली की सातों सीटों पर विजयी हुई थी। बूथ और समिति प्रबंधन की दिशा में स्व. मांगे राम गर्ग का योगदान संघ और संघठन में एक प्रेरणा की तरह है। वर्तमान में देशभर में बीजेपी के कार्यालय निर्माण की जिम्मेदारी उन्हें के पास थी।

गर्ग का जन्म 23 नवम्बर 1936 को हरियाणा के नरवाना तहसील के कुराड़ गांव में हुआ था। उनका परिवार नागरमल था, जिन्हे चौधरी का ख़िताब भी मिला था। लेकिन समय की मार ने सट्टे में सबकुछ छीन लिया। और महज 14 साल की उम्र में जीविका के लिए उन्हें घर से निकलना पड़ा। अपने मामा के साथ काम करते हुए वह राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ से जुड़े और फिर अपनी लगन और मेहनत से कई जिम्मेदारियोंका सफलतापूर्वक निर्वाहन किया। वे देशभर में तीर्थ यात्रियों एवं तीर्थ स्थलों की विकास के लिए काम करने वाली वीएचपी की इकाई धर्मयात्रा महासंघ के वे राष्ट्रिय अध्यक्ष और हरिद्वार की प्रसिद्ध धर्मशाला निष्काम सेवा ट्रष्ट के वे महामंत्री रहे ।

बहुत काम ही लोग जानते होंगे कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए सरकारी आर्थिक सहायता और यात्रियों के अभिनन्दन की शुरुआत उनकी के प्रयासों का परिणाम है। यही नहीं, दिल्ली सरकार द्वारा कावड़ सेवा शिविर लगवाने में भी उनकी विशेष भूमिका थी। देश में कहीं भी प्राकृतिक आपदा आती तो संघ और संघठन उन्हें ही याद करता था। महज चंद घंटों में वे मदद का सामान तैयार कर आपदा स्थल पर जाने के लिए भिजवा देते थे। पार्टी के लिए धन संग्रह करने में वे माहिर थे। बीजेपी की आजीवन सहयोग निधि के वे राष्ट्रिय संयोजक रहे।

टिप्पणियाँ
Loading...