Priyanka Gandhi को Indira Gandhi कहने के पीछे है ये वजह

इस नारे को आपने न जाने कितनी ही बार प्रियंका गांधी की रैलियों में सुना होगा लेकिन अब प्रियंका वाकई इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में जमीन विवाद में मारे गए गोंड आदिवासी परिवारों से मिलने पर अड़ी हुई हैं. सोनभद्र जाते हुए उन्हें शुक्रवार को बीच रास्ते में रोक दिया गया, जहां वह धरने पर बैठ गईं।

बाद में उन्हें हिरासत में लेकर चुनार किला ले जाया गया। वहां भी वो दोबारा धरने पर बैठ गईं। लेकिन लोगों ने तुरंत एक इंदिरा गांधी की तस्वीर के साथ प्रियंका को जोड़ा और उनकी तारीफें होने लगी इस तस्वीर में इंदिरा गांधी गुलाबी साड़ी में बीच सड़क में धरने पर बैठी नजर आ रही हैं। प्रियंका और इंदिरा गांधी की इस तस्वीर को जोड़कर फिर से समर्थक कांग्रेस के उभरने की उम्मीद कर रहे हैं।

इंदिरा गांधी की इस तस्वीर के बारे में पता नहीं कब और किस घटना की है, लेकिन यह सच है कि 1977 में सत्ता से बाहर रहने के दौरान इंदिरा गांधी ने बिहार के एक गांव बेलची में हुए दलितों के नरसंहार के बाद पीड़ितों से मिलने पहुंची थीं। इस नरसंहार में 11 दलितों की हत्या कर दी गई थी।

खैर प्रियंका अभी भी धरने पर हैं और बाकी लोगों से मिलने का इंतजार कर रही हैं क्योंकि केवल दो ही लोग उनसे मिल सके थे।

टिप्पणियाँ
Loading...