गोल्डन बेल्स स्कूल, अशोक विहार की 10वां स्पोर्ट्स और कल्चुरल मीट

मस्ती में झूमते ज़रा इन बच्चों को देखिए…इन नन्हे-मुन्हों को देखकर यकीन नहीं होता

कि ये इस तरह की परफॉरमेंस भी दे सकते हैं. टैलेंट तो हर किसी में होता है, बस ज़रूरत होती

है उसे सही समय पर पहचानने की और तराशने की. इस प्रस्तुति के पीछे है लंबे समय से की

गई कड़ी मेहनत…ख़ुद इन बच्चों की और इनसे ज़्यादा इनके टीचर्स की…जिन्होंने इन बच्चों को

यहां तक पहुंचाया.

ये गोल्डन बेल्स के चेयरमैन एच.आर. गुप्ता की दूरगामी सोच का ही नतीजा है

कि इस स्कूल ने एक अलग मुकाम हासिल किया है और अभिभावकों के दिल में एक ख़ास जगह बनाई

है. ऐसा इसलिए, हर मां-बाप के लिए वही जगह सबसे बेस्ट होती है, जो उनके बच्चों के फ्यूचर के लिए

सबसे बेहतर हो.

गोल्डन बेल्स की प्रिंसिपल रजनी खोसला ने बहुत ही प्यार और समर्पण से स्कूल को संभाला है और स्कूल के डायरेक्टर डॉ. राजीव गुप्ता ने भी पूरी तत्परता से इसका संचालन किया है…और स्कूल के बच्चों ने जिस तरह से यहां अपना टैलेंट बिखेरा है, उससे इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि स्कूल को यहां तक पहुंचाने के पीछे उनकी कितनी मेहनत होगी.

टिप्पणियाँ
Loading...