केजरीवाल सरकार ने पूर्वांचलियों की आस्था को ठेस पहुंचाई-कौशल मिश्रा

0

राकेश चावला, संवाददाता

उत्तर पूर्वी दिल्ली|| महामारी कोरोना काल में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद सरकार की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए वेलकम के श्रीराम मंदिर की छत पर डूबते सूरज को श्रद्धालुओं ने अर्घ दिया। इस मौके पर भाजपा पूर्वांचल प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कौशल मिश्रा ने कहा कि छट मैया के महापर्व पर दिल्ली की केजरीवाल सरकार फेल साबित हुई है। केजरीवाल सरकार ने पूर्वांचलियों को हल्के में आंकने की गलती की है समय आने पर इसका जवाब देंगे।अहंकारी घमंडी मुख्यमंत्री की निन्दा करते हैं और प्रभु से कामना करते हैं कि मूर्ख को सद्बुद्धि दो।

बता दें की इस मौके पर भाजपा पूर्वांचल मोर्चा के अध्यक्ष कौशल मिश्रा ने स्थानीय निवासियों के साथ सूर्य उपासना के महापर्व छट मैया  के पूजन करते हुए डूबते सूरज को अर्घ्य दिया।इस मौके पर जहां महिला श्रधालुओं ने गीत संगीत गाकर छट मैया की महीमा का वर्णन किया और बड़े ही सादगी और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए त्यौहार को मनाया। महिलाओं ने मंदिर की छत पर बनाए गए पानी के कृतिम तालाब में खड़े होकर सूर्य कि उपासना कि और डूबते सूर्य को बहुत ही खुशनुमा माहौल में अर्घ्य दिया।

कौशल मिश्रा ने कहा के दिल्ली सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है। केजरीवाल सरकार ने हमेशा पूर्वांचलियों के विरोध में काम किया है। अगर मुख्यमंत्री चाहते तो सारी व्यवस्थाओं को ठीक करके जिस प्रकार से बिहार, उत्तर प्रदेश और दूसरे राज्यों में मनाया जा रहा है कर सकते थे,लेकिन उन्होंने छट उपासना के महापर्व को राम भरोसे छोड़ दिया। सरकार ने श्रद्धालुओं से खुद व्यवस्था करने को कहा और तुगलकी फरमान जारी कर दिया की अगर कोई भी घाट के पास मिलता है तो उसपर जुर्माना लगाया जाएगा। ऐसा न करके वह पूजन की व्यवस्था कर सकते थे। पार्कों में छट पर इंतजाम कर सकते थे यह दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी थी।

टिप्पणियाँ
Loading...