महापौर जयप्रकाश पहुंचे हड़ताली निगम कर्मचारियों से मिलने, कर्मियों ने कहा वेतन नहीं तो काम नहीं

0

डिम्पल भारद्वाज, संवाददाता

दिल्ली।। आजादपुर फल मंडी में आज शनिवार को वेतन समेत अन्य मांगों को लेकर सफाई कर्मचारी हड़ताल और प्रदर्शन करते दिखे। हड़ताली कर्मचारियों से बातचीत करने के लिए उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश बात करने के लिए फल मंड़ी पहुंचे। उन्होंने कर्मचारियों की शिकायत और नाराज़गी को जायज़ बताया। 

महापौर ने कहा कि बीजेपी सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि निगम के कर्मचारियों का वेतन जल्द से जल्द मिले लेकिन दिल्ली की सत्ता पर काबिज़ केजरीवाल सरकार निगम कर्मचारियों को वेतन देने के मूड में नहीं है। इससे कर्मचारियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।जय प्रकाश के इतना कहने और समझाने पर भी कर्मचारी शांत नहीं हुए और उनके सामने ही मेयर वापस जाओ के नारे लगाने लगे। लेकिन काफी देर तक चले इस वार्तालाप के बाद अंतत निगम कर्मचारियों ने मेयर का साथ देने की बात कही और कहा कि भाजपा सरकार दिल्ली सरकार के खिलाफ जो भी कदम उठाएगी, हम उसके साथ हैं लेकिन हमारी मांग केवल एक ही है कि जल्द से जल्द सफाई कर्मचारियों का रुका हुआ वेतन, एरियर तो मिले ही, साथ ही जो कर्मी लंबे वक्त से पक्का होने का इंतज़ार कर रहे हैं उन्हें पक्का किया जाए।अगर यह सभी मांग पूरी नहीं होतीं तो दिल्ली में अब काम नहीं होगा।

मालूम हो कि आजादपुर फल,सब्जी मंडी में पिछले 7 जनवरी से निगम कर्मचारी काम बंद हड़ताल पर हैं। हड़ताल के शुरुआती दिन सिविल लाइन ज़ोन पर हंगामा देखने को मिला। इस दौरान कर्मचारी यूनियन, शिक्षक यूनियन, डेम्पस यूनियन और पेंशन यूनियन के लोग बड़ी तादात में सिविल लाइन ज़ोन पर पहुंचे और दिल्ली सरकार और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी करते दिखे।कुछ लोगों ने अपने हाथ में कुछ तख्तियां ले रखी थीं जिन पर जब.तक वेतन नहीं, तब.तक काम नहीं, ना आटा है ना दाल है, घर पर बुरा हाल है, हमारा हक हमारा वेतन, पांच महीने से बिना वेतन काम हमारा हक हमारी पेंशन, 1 2 3 4 बंद करो अत्याचार जैसे कई नारे लिखे, जिन्हें देख निगम कर्मचारियों का दर्द साफ दिखाई दे रहा था।

सभी ने एक सुर में कहा कि हमारे साथ दिल्ली सरकार और नगर निगम मिल कर खेल खेल रही है। कभी हमारे नाम की बा़ॅल दिल्ली सरकार के पाले में फेंकी जाती है तो कभी दिल्ली सरकार मामले को दिल्ली नगर निगम की गलती बता देती है। यही वजह है कि आज हम काम बंद हड़ताल कर रहे हैं।इस हड़ताल से दिल्ली एक बार फिर गंदगी के ढेर में तब्दील होती दिख रही है। जहां एक ओर दिल्ली की जनता गंदगी और अव्यवस्था से परेशान हैं तो वहीं दूसरी ओर निगम कर्मचारी जब.तक वेतन नहीं, तब.तक काम नहीं की, ज़िद पर अड़े हैं। 

टिप्पणियाँ
Loading...