दिल्ली: लॉकडाउन में बड़ी राहत, दुकानें और मॉल समेत चल सकेंगी मेट्रो

नेहा राठौर, संवाददाता

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना संकट की बढ़ती दूसरी लहर को रोकने के लिए दिल्ली सरकार को लॉकडाउन लगाना पड़ा था, लेकिन अब जब कोरोना की स्थिती काबू में आ गई है तो दिल्ली सरकार धीरे-धीरे लॉकडाउन को अनलॉक कर रही है। शनिवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अनलॉक के दूसरे चरण में ऑड-ईवन फॉर्मूले से बाजार खोलने का ऐलान किया है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केजरीवाल ने कहा कि अब कोरोना की स्थिति काफी कंट्रोल में है। इसलिए लॉकडाउन सोमवार को 5 बजे तक जारी रहेगा लेकिन इसमें कई रियायतें दी जाएंगी। अब से दिल्ली में बाजार और मॉल ऑड- ईवन फॉर्मूले से खोले जा सकेंगें। वहीं सरकारी दफ्तरों में ग्रुप ए के 100 प्रतिशत अफसरों को काम करने की छूट दी जा रही है और प्राइवेट ऑफिस भी 50 प्रतिशत मैन पावर के साथ खुले जा सकेंगे साथ ही स्टैंड अलोन शॉप को हर रोज खुलने की इजाज़त दी गई है।

सीएम ने कहा कि दुकानों और मॉल के साथ- साथ दिल्ली मेट्रो को भी 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू किया जाएगा। साथ ही अगले आने वाले हफ्ते में कोरोना के हालात को देखकर उसके अनुसार ही रियायत दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी के लिए कल पूरे 6 घंटे तक बैठक की है। जिसमें यह तय किया गया है कि हम तीसरी लहर में कोरोना के मामले 37 हजार प्रतिदिन तक पीक मानकर तैयारी करेंगे। साथ ही आने वाले दिनों में बेड, ऑक्सीजन, दवा और आईसीयू की कितनी जरूरत होगी और बच्चों के लिए कितने आईसीयू बेड की जरूरत हो सकती है, इसका भी आकलन किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि दूसरी लहर की तरह ऑक्सीजन की कमी का संकट न आए, इसलिए हम 420 टन ऑक्सीजन के लिए स्टोरेज तैयार कर रहे हैं। फिलहाल 150 टन ऑक्सीजन के प्रोडक्शन के लिए प्लांट शुरू करेंगे। जिसमें 18 महीने का समय लगेगा। उन्होंने बताया कि अभी 25 ऑक्सीजन टैंकर खरीदे जा रहे हैं। साथ ही छोटे-छोटे 64 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जाएंगे। संकट की दौरान ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत का भी आकलन किया जा रहा है। दवाओं के लिए अफरा-तफरी ना मचे इसलिए तेजी से दवाएं भी भेजी जा रही हैं। इतना ही नहीं अब उन डॉक्टर्स की एक टीम भी बनाई जाएगी जो कोरोना संक्रमितों को दवा के लिए सुझाव देंगे।

टिप्पणियाँ
Loading...