दिल्ली सरकार का आदेश, बच्चों के लिए 6 कोरोना केयर सेंटर को बनाया जाएगा पीडियाट्रिक केयर सेंटर

नेहा राठौर, संवाददाता

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना की दूसरी लहर का कहर कम हो रहा है। लेकिन कोरोना की तीसरी लहर के आने की आशंका जताई जा रहा है। विशेषज्ञों ने तीसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने का ज्यादा खतरा होने की संभावना जातई है। ऐसे में दिल्ली सरकार हर प्रकार की सावधानी बरत रही है। शुक्रवार को दिल्ली सरकार के आदेश पर सिक्श सिग्मा हेल्थकेयर ने अपना कार्य शुरू कर दिया है। सरकार के आदेशानुसार संस्था ने अपने कोरोना केयर सेंटरों को पीडियाट्रिक केयर सेंटर में तबदिल किया जा रहा है। इतना ही नहीं संस्था ने बच्चों को चिकित्सा सुविधा देने के लिए 125 से ज्यादा मेडिकल स्टाफ को ट्रेनिंग देने की भी व्यवस्था दी है।

गौरतलब है कि संस्था द्वारा संचालित छह कोरोना केयर सेंटरों में बच्चों के लिए 116 बेड की क्षमता वाले पीडियाट्रिक केयर सेंटर तैयार किए जा रहे हैं। इन सभी केंद्रों पर बच्चों को कोरोना के शुरूआती लक्षणों के मुताबिक इलाज की पूर्ण व्यवस्था की जाएगी। यहां बच्चों को भोजन भी संस्था द्वारा ही उपलब्ध कराया जाएगा।

पीडियाट्रिक केयर सेंटर में बदलने वाले कोरोना केयर सेंटर                                                                                                                       

  •  कोरोना केयर सेंटर, सागरपुर                          
  •  कोरोना केयर सेंटर, काकरोला                
  • कोरोना केयर सेंटर, नवादा                                     
  • कोरोना केयर सेंटर, महावीर एन्क्लेव
  • कोरोना केयर सेंटर, नजफगढ़                  

बच्चों की सुरक्षा के लिए डॉक्टरों का सुझाव

अगर बच्चे में इंफेक्शन के माइल्ड लक्षण नजर आते हैं जैसे- गले में खराश या गले में दर्द और खांसी, लेकिन सांस से जुड़ी कोई समस्या नहीं है, तो ऐसे में बच्चे को होम आइसोलेशन में ही रखें। बच्चे के शरीर में पानी की कमी न हो इसके लिए उसे अधिक से अधिक तरल चीजें दें, ताकि पानी की कमी पूरी हो सके। अगर बच्चों का ऑक्सीजन लेवल कम तो तभी उसे पीडियाट्रिक केयर सेंटर में एडमिट करायें।

टिप्पणियाँ
Loading...