JNU की लाइब्रेरी में हंगामा, छात्रों ने तोड़े शीशे, पुलिस ने दर्ज किया मामला

नेहा राठौर, संवाददाता

नई दिल्ली। देश में कोरोना के कारण छात्रों का काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पुस्ताकालय में तोड़फोड़ का मामला सामने आया है। कोरोना के कहर की वजह से पुस्तकालय को बंद कर दिया गया था। अब जब केस कम हो रहे हैं, कुछ छात्र चाहते थे कि पुस्तकालय खोला जाए ताकि वे पढ़ सकें। इसी के चलते बुधवार को पुस्तकालय के गार्ड के साथ बहस के बाद हंगामा शुरू हो गया। इस बीच पुस्तकालय के शीशों को तोड़ दिया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

बताया जा रहा है पुस्तकालय में 30 ज्यादा छात्र घुसने की कोशिश कर रहे थे, जब सुरक्षा गार्डों ने उन्हें रोका तो उन पर छात्रों ने हमला कर दिया। इस हंगामे के दौरान पुस्तकालय के शीशे भी तोड़ दिए गए। इस पर पुलिस ने 188 (सरकारी आदेश का उल्लंघन) और महामारी अधिनियम की धारा 3 का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इस पर पुलिस का कहना है कि 30-35 छात्रों का समूह पुस्तकालय के बाहर इकट्ठा हुआ था। जिसे कोरोना के चलते बंद कर दिया गया था। पुस्तकालय का गेट खुलवाने के लिए छात्रों ने गेट के सामने विरोध करना शुरू कर दिया लेकिन गार्ड ने गेट खोलने से मना कर दिया। यह घटना मंगलवार सुबह 10:40 बजे की है।

FIR के अनुसार, विरोध कर रहे छात्रों को अलग करने के लिए गार्ड ने क्विक रिस्पांस टीम को तुरंत बुलाया। छात्रों पर आरोप है कि उन्होंने सुरक्षा कर्मियों के साथ मारपीट की और पुस्तकालय के गेट को लाठियों से पीटा। गेट का शीशा पूरी तरह से टुट गया है, गार्ड ने हमले का विरोध किया था। पुलिस ने फिलहाल अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

टिप्पणियाँ
Loading...