glam orgy ho spitroasted.pron
total italian perversion. jachub teens get pounded at orgy.
site

दिल्ली: CAIT ने व्यापारियों को ई-कॉमर्स के इस्तेमाल पर दिया जोर, हिंदी भवन में आयोजित की बैठक

नेहा राठौर

दुनिया भर में व्यापार के लिए ई-सिस्टम बहुत तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में दिल्ली के ITO के पास स्थित हिंदी भवन में कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स(CAIT) ने व्यापारियों की बुलंद आवाज नाम से एक बैठक आयोजित की। इस बैठक के दौरान उन्होंने ऑनलाइन व्यापार के लिए ‘भारत ई-मार्केट सेलर’ नाम से एक ऐप को लेकर व्यापारियों को ऑनलाइन व्यापार के बारे में समझाया। इस पर कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि मोदी जी के आने के बाद बहुत बड़ा फायदा टैक्नौलोजी को मिला है। सभी जगह सारा काम ई-सिस्टम के जरिये बिना किसी टैक्स के हो जाता है और व्यापार में टेक्नॉलजी का इस्तेमाल ना हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता। इसी टेक्नोलॉजी के कारण करीब 2 लाख मोबाईल की दुकानें बंद हो चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 3 सालों में 7.5 लाख दुकानें बंद हो चुकी हैं। क्योंकि हमने सिर्फ कोसने का ही काम किया है अपने डेवलपमेंट के बारे में कभी सोचा ही नहीं। कोरोना महामारी से पहले भारत में ई-कॉमर्स 6 प्रतिशत था और अब बढ़कर 27.5 प्रतिशत हो गया है। खंडेलवाल ने कहा कि आज 18 से 40 साल तक का व्यक्ति उपभोक्ता होता है। ऐसे में टेक्नोलॉजी से मुंह मोड़ना व्यापार के लिए हानिकारक है।

बच्चों को व्यापार की बजाय MBA और अन्य कोर्स पर जोर

इतना ही नहीं खंडेलवाल ने पिछले 2 सालों से फ्लिपकार्ट और अमेजॉन से लड़ाई का जिक्र करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट में तो हमने उनके खिलाफ जीत लिया। इससे पहले हाईकोर्ट ने इनके पीछे कॉम्पिटिशन कमीशन और ED को लगा दिया। लेकिन अब हमें भी अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए अपनी दुकानों को ई-कॉमर्स पर लाना होगा। हम दिल्ली एनसीआर में पोर्टल को लागू करेंगे और उस पर एक प्रतिशत भी कमीशन नहीं लगाया जाएगा। ये पोर्टल बिजनेस टू बिजनेस और बिजनेस टू कंज्यूमर होगा यानी इसे व्यापारी और उपभोक्ता दोनों इस्तेमाल कर सकेंगे।

वहीं बैठक में मौजूद बीसी भाटिया ने कहा कि हम लोगों को शर्त के तहत बाहर कर दिया गया है और हम अभी तक GST  के बारे में सोच ही रहे हैं। आज हम अपने बच्चों को व्यापार के गुण की बजाय MBA और अन्य कोर्स करवा के नौकरी के लिए जोर दे रहे हैं। जब हमारे बच्चे बड़े हो जाएंगे तो हमसे कहेंगे कि हमारे लोग समय के साथ बदल नहीं पाए इसलिए हमें नौकरी करनी पड़ी रही है।

दिल्ली एनसीआर होगा जागरूक

उन्होंने ई-कॉमर्स के फायदे बताते हुए कहा कि जब हम रजाई तान के सो रहे होते हैं और हमारी दुकानों पर ताला लगा होता है। उस समय उपभोक्ता ई-पोर्टल से शॉपिंग करते हैं और अगले दिन उन्होंने उनका ऑर्डर मिल भी जाता है। उन्होंने कहा कि अगर किसी रिटेलर की दुकान बंद होती है तो होलसेलर के लिए चेतावनी है कि हमें ऑनलाइन आना होगा। आज बाजारों में जो भीड़ दिख रही है। उसका कोई भरोसा नहीं कल हो ना हो। बैठक के अंत में उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक होगा क्योंकि हम दिल्ली के व्यापारियों को जागरूक करने आए हैं। आज अगर दिल्ली एनसीआर जाग गया तो पूरा देश जाग जाएगा।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा यूटयूब चैनल दिल्ली दपर्ण टीवी (DELHI DARPAN TV) सब्सक्राइब करें।

आप हमें FACEBOOK,TWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं।

टिप्पणियाँ
Loading...
bokep
nikita is hot for cock. momsex fick meinen arsch du spanner.
jav uncensored