दिल्ली में एग्जीबिशन और इवेंट्स को शुरू करने की उठी मांग, उद्योग मंत्री से मिले कारोबारी

नेहा राठौर

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना की धीमी रफ्तार के मद्देनजर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने तमाम आर्थिक गतिविधियों को ढील दे दी है, लेकिन अभी तक एग्जीबिशन और इवेंट्स को खुलने की अनुमति नहीं दी गई है। ऐसे में एग्जीबिशन और इवेंट्स ऑर्गनाइजर्स ने चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) के नेतृत्व में दिल्ली सरकार के उद्योग मंत्री सत्येंद्र जैन से मुलाकात की है। इस दौरान आयोजकों ने जैन के सामने अपनी समस्याओं की एक लिस्ट बनाकर पेश की है।  

इस पर CTI चेयरमैन बृजेश गोयल ने बताया कि, सत्येंद्र जैन ने आयोजकों को आश्वस्त किया है कि डीडीएमए की अगली मीटिंग में वह एग्जीबिशन और इवेंट ऑर्गनाइजर्स की परेशानियों को रखेंगे और अगले सप्ताह जारी होने वाली गाइडलाइंस में इवेंट और एक्जीबिशन इंडस्ट्री को राहत दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़ें  – दिल्ली: अंकित गुर्जर केस में HC का बड़ा फैसला, अब CBI करेगी केस की जांच

बृजेश गोयल ने बताया कि इस दौरान जैन ने दुबई में लगने वाली एग्जीबिशन का उदाहरण भी दिया। जैन ने कहा कि दुबई में काफी लंबे समय तक प्रदर्शनी लगती हैं, जिसमें दूरदराज से लोग पहुंचते हैं। इससे कारोबार बढ़ता है। क्या दिल्ली में भी दुबई के लेवल पर एग्जीबिशन कर सकते हैं? जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के कारण पिछले डेढ़ साल से कोई भी बड़ा कार्यक्रम नहीं हुआ है।

जल्द खोले जाएं एग्जीबिशन और इवेंट्स

इस दौरान फेरी टेल्स एग्जीबिशन की डायरेक्टर निकिता आर्या ने अपनी बात रखते हुए कहा कि अभी दिल्ली में साप्ताहिक बाजार, सिनेमा, स्कूल, मेट्रो, मॉल, मार्केट आदि खुल गए हैं। अब एग्जीबिशन और इवेंट्स को भी छूट मिलनी चाहिए। हमारे काम शुरू करने से टेंट, स्टॉल, पार्टिशन, लाइट, कैमरा, साउंड, माइक, फूड, कैटरिंग, प्रिंटर्स, स्टेज, एंकर, डेकोरेटर्स, आर्टिस्ट और सिक्योरिटी आदि को भी काम मिलेगा।

वहीं महिला कारोबारी लहर सेठी ने कहा कि कोरोना के कारण इंडस्ट्री को काफी नुकसान पहुंचा है। इसकी भरपाई कर पाना बहुत बड़ी चुनौती है। अब लोगों ने मजबूरी के चलते दूसरा काम करना शुरू कर दिया है। हमारी इंडस्ट्री कई लोगों को रोजगार देती है। सरकार को एग्जीबिशन और इंवेंट्स को जल्द खोलने की अनुमति देनी चाहिए।

इसी के साथ सीटीआई चेयरमैन बृजेश गोयल ने बताया कि उन्होंने इस मुद्दे पर डीडीएमए को चिट्ठी भी लिखी है और उम्मीद जताई है कि डीडीएमए अगली मीटिंग में एक्जीबिशन इंडस्ट्री को भी राहत दी जाएगी। बता दें कि दिल्ली में 100 से भी ज्यादा बिजनेस टू कस्टमर ऑगर्नाजर हैं। इस इंडस्ट्री से करीब 40 हजार लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा यूटयूब चैनल दिल्ली दपर्ण टीवी (DELHI DARPAN TV) सब्सक्राइब करें।

आप हमें FACEBOOK,TWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं।

टिप्पणियाँ
Loading...