glam orgy ho spitroasted.pron
total italian perversion. jachub teens get pounded at orgy.
site

दिल्ली में अब मजदूर भी कर सकेंगे बसों में फ्री सफर

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मजदूरों को बस पास उपलब्ध कराते हुए की योजना की शुरुआत 
10 पहुंची पंजीकृत मजदूरों की की संख्या : सिसोदिया 
मजदूरों को फ्री बस पास की सुविधा उनकी जिंदगी को सरल बनाने की कोशिश : आतिशी 

दिल्ली दर्पण टीवी
नई दिल्ली।
महिलाओं के बाद अब मजदूर भी बसों में फ्री यात्रा कर सकेंगे। दिल्ली सरकार ने यह निर्णय कोरोना की वजह से काम बंद होने के चलते मजदूरों को राहत देने के लिए लिया है। मजदूरों को फ्री बस सेवा उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने खुद मजदूरों को बस पास देते हुए इस योजना की शुरुआत की है।

यह भी पढ़ें-  दिल्ली में फ्लैट खरीदारों के लिए मोदी सरकार देगी खुशखबरी

इस मौके पर बोलते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मजदूरों को निर्माता और भाग्य विधाता बताते हुए कहा की जिन्हे कुदरत ने कम दिया उन्हें सरकार ज्यादा दे यह सोच मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल की है। अंतिम व्यक्ति को फ्री बिजली-पानी, शिक्षा-स्वास्थ्य जैसी अनेकों योजनाओं के बाद अब भवन निर्माण मजदूरों के लिए फ्री बस पास की सुविधा उनकी जिंदगी को सरल बनाने की ही एक छोटी से कोशिश है। इस योजना से निर्माण मजदूरों को 1500 से 2500 रुपये प्रतिमाह की बचत के साथ साथ उनके जीवन को सरल बांयेगी। यह योजना भी अन्य योजनों की तरह केजरीवाल सरकार की बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर और शहीदे आज़ाद भगत सिंह के सपनो के भारत बनाने की दिशा में के कदम है।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सरकार की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी सरकार से पहले वर्ष 2013 में 50 हज़ार मजदूर पंजीकृत हुए थे, लेकिन आज पंजीकृत मजदूरों की संख्या 10 लाख तक पहुंच गयी है। उन्होंने कहा कि देश में न्यूनतम मजदूरी सबसे ज्यादा दिल्ली में ही है। कोरोना काल में मजदूरों को पांच पांच हज़ार रुपये देने का काम केजरीवाल सरकार ने ही किया है।
उन्होंने कहा कि मजदूरों के लिए पैसे की कभी कोई कमी नहीं रही है। हज़ारों करोड़ रुपये मजदूरों के लिए आते थे ,लेकिन उनसे मजदूरों के काम कम ठेकेदारों को लाभ पहुंचने वाले काम ज्यादा होते थे। उन्होंने कहा कि मजदूरों के लिए आलिशान गेस्ट हाउस बनाये जाते थे लेकिन वे मजदूरों के किसी काम नहीं आते थे। पूर्ववर्ती सरकारों पर आरोप लगते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि उनकी चिंता में मजदूर कभी रहे ही नहीं। केजरीवाल सरकार ने 6000 करोड़ रुपये मजदूरों के कल्याण पर खर्च किये है जो देश में किसी भी सरकार ने अब तक नहीं किये हैं। देश में मजदूरों को साथ लिए बिना विकास की बात करना बेमानी है।
इस मौके पर विधायक आतिशी मार्लिना ने कहा कि केजरीवाल सरकार फ्री बिजली पानी, शिक्षा स्वास्थ्य जैसी अनेक योजनों के साथ-साथ समाज की अंतिम पंक्ति के लिए योजनाएं बनाती हैं। कोरोना की वजह से निर्माण कार्य बंद हुए तो यही वर्ग सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। उन्हें केजरीवाल सरकार ने पांच पांच हज़ार रुपये की सहायता दी और अब यह फ्री बॉस पास की सुविधा उनके लिए बड़ी राहत है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा यूटयूब चैनल दिल्ली दपर्ण टीवी (DELHI DARPAN TV) सब्सक्राइब करें।

आप हमें FACEBOOK,TWITTER और INSTAGRAM पर भी फॉलो पर सकते हैं

टिप्पणियाँ
Loading...
bokep
nikita is hot for cock. momsex fick meinen arsch du spanner.
jav uncensored