ब्राउजिंग टैग

amitabh bacchan ad

झुग्गीवालों के लिए शौच बना संग्राम

जहाँ सोच वहां शौचालय, विद्या बालन जी की यह बात देश के लोगों ने तो मान लिया, लेकिन शायद दिल्ली के प्रशासन को चला रही एजेंसियां इससे इत्तफाक नहीं रहतीं, तभी तो झुग्गी बस्तियों में लोगों को मजबूरन बाहर जाना ही पड़ता है, यहाँ कोई चाहकर भी