अब नहीं होगों भारत में बाल मजदूर, ऐसे सुधरेंगे हालात

फरीदाबाद – श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई के विश्व बाल श्रम निषेध पखवाडा कार्यक्रम के अंतिम दिन एनआईटी एसी नगर के स्लम क्षेत्र में बालश्रम को रोकने और लोगों को जागरूक करने के लिये रैली के साथ-साथ नुक्कड नाटक भी किये गये ताकि बालश्रम से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में लोगों को पता लग सके।इस दौरान सेंकड़ों की संख्या में मौजुद बच्चों को बालश्रम ना करने के लिये शपथ भी दिलाई गयी ताकी बच्चे कभी बालश्रम को ना अपनाएं बालश्रम परियोजना की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी और प्रोग्राम मैनेजर शिवकुमार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में आशा वशिष्ठ और प्रेम बाला मौजूद रहीं। जिनका प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी ने पौधा भेंट कर स्वागत किया। इस कार्यक्रम के दौरान पहले पूरे स्लम क्षेत्र में रैली और नुक्कड नाटक किये गये उसके बाद सभी बच्चों को मुख्यअतिथि आशा वशिष्ठ और प्रेम बाला ने सम्मानित किया। वहीं राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की प्रोजेक्ट डायरैक्टर रुकमनी ने बताया कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा पूरे देश में बालश्रम रोकने और लोगों को जागरूक करने के लिये एक सप्ताह का पखवाडा चलाया गया था जिसका समापन किया गया

टिप्पणियाँ
Loading...