Wrestlers Protest : WFI अध्यक्ष को हटाने पर अड़े पहलवान, अनुराग ठाकुर से बातचीत में नहीं निकला कोई हल, आज फिर मीटिंग


 
 दिल्ली दर्पण टीवी ब्यूरो 
Wrestlers Protest: भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे खिलाड़ियों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी कड़ी में गुरुवार देर रात बबीता फोगाट, साक्षी मलिक, बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट और अन्य पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ के खिलाफ आरोपों के सिलसिले में केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मीटिंग हुई। हालांकि इस मीटिंग में कोई हल नहीं निकला। इस मुद्दे पर आज फिर खेल मंत्री और पहलवानों के बीच मीटिंग होनी है।

इससे पहले भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे खिलाड़ियों को केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने न्याय का भरोसा दिलाया है। उन्होंने बताया कि खेल मंत्रालय ने WFI को नोटिस भेजकर 72 घंटे में जवाब मांगा है।

केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि जो आरोप लगे हैं वो गंभीर हैं, इसका संज्ञान लेते हुए खेल मंत्रालय ने WFI को नोटिस दिया और 72 घंटे के अंदर जवाब मांगा है। जो कैंप लगा था उसे आगे के लिए टाल दिया गया है। मेरा प्रयास है कि मैं वापस जाकर खिलाड़ियों से मिलूंगा। उचित कार्रवाई की जाएगी।
 
IOA अध्यक्ष पीटी उषा ने कहा कि हम एथलीटों से अनुरोध करते हैं कि वे आगे आएं और अपनी चिंताओं को हमारे सामने रखें। हम न्याय दिलाने के लिए पूरी जांच सुनिश्चित करेंगे। हमने भविष्य में उत्पन्न होने वाली ऐसी स्थितियों से निपटने के लिए एक विशेष समिति बनाने का फैसला किया है ताकि तेजी से कार्रवाई हो।

गुरुवार दोपहर पहलवानों की खेल मंत्रालय के साथ मीटिंग के बाद विनेश फोगाट ने कहा कि हमें कोई संतोषपूर्ण जवाब नहीं मिला है। हम WFI अध्यक्ष का इस्तीफा चाहते है। हम चाहते हैं कि WFI को भंग किया जाए। हम आज रात तक का इंतजार कर रहे हैं। हमें मजबूर किया गया तो हम FIR भी दर्ज करवाएं, बृजभूषण शरण सिंह को जेल में डलवाएंगे।

पहलवान विनेश फोगाट (Wrestler Vinesh Phogat) ने कहा कि आज प्रदर्शन का दूसरा दिन है। हमें सरकार की तरफ से कोई भी संतोषजनक प्रतिक्रिया नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि हमें जान का भी खतरा है, हमने पुलिस का प्रोटेक्शन भी नहीं ली है। जब शोषण होता है तो एक कमरे में होता है, वहां कैमरे नहीं लगाए जाते हैं। वे लड़कियां भी हमारे साथ हैं जो इसे साबित कर सकती हैं।

बजरंग पुनिया (Wrestler Bajrang Punia) ने मीडिया से बातचीत में कहा कि 5-6 महिला पहलवान हमारे साथ हैं जिनके साथ गलत व्यवहार हुआ है और हमारे पास सबूत भी हैं। बजरंग पुनिया ने कहा कि हम चाहते हैं कि फेडरेशन को बंद किया जाए क्योंकि फेडरेशन में वे अपने ही लोगों को बिठाएंगे। अगर इसका समाधान जल्दी नहीं निकला तो हम कानून का भी सहारा लेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई फेडरेशन के खिलाफ है न कि सरकार के खिलाफ।

 
ओलंपिक रेस्लकर साक्षी मलिक (Wrestler Sakshi Malik) ने कहा कि सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया है। उन्होंने सिर्फ आश्वासन दिया है। हम रिस्पॉन्स से खुश नहीं हैं। हम पीएम सर से निवेदन करते हैं कि वे न्याय दिलवाएं। हम रेसलिंग फेडरेशन (Wrestling Federation) को भंग करवाना चाहते हैं। हर जगह उनके लोग हैं। हमें केरल, महाराष्ट्र से फोन आ रहे हैं जो पीड़ित रही हैं।

टिप्पणियाँ बंद हैं।