Saturday, May 25, 2024
spot_img
Homeराजनीतिरोहिणी से स्वराज इंडिया की सविता मुखी क्यों बाँट रही हैं शपथपत्र...

रोहिणी से स्वराज इंडिया की सविता मुखी क्यों बाँट रही हैं शपथपत्र ?

[bs-embed url=”http://https://www.youtube.com/watch?v=94hCAthQx8Q”]http://https://www.youtube.com/watch?v=94hCAthQx8Q[/bs-embed]

[bs-embed url=”https://www.youtube.com/watch?v=94hCAthQx8Q”]https://www.youtube.com/watch?v=94hCAthQx8Q[/bs-embed]

बीजेपी के गढ़ रहे रोहिणी में वार्ड नंबर 60 से स्वराज इंडिया ने डॉ सविता मुखी को अपना उम्मीदवार बनाया है। पेशे से डॉक्टर डॉ सविता मुखी अपने वार्ड के हर सोसायटी में जाती है अपने प्रचार अभियान के दौरान एक एफिडेविट भी बांटती बाँट रही है। यहाँ के 70 ग्रुप हाउसिंग सोसायटीज  में जहां कहीं मीटिंग लेती है वहां एफिडेविट बांटती है। जिसमें लिखे वादे लोगों को लुभा रहे है। इनमें वे सब वादे है जो कभी आम आदमी पार्टी किया करती थी। पारदर्शिता , सरकारी सुविधाएं नहीं लेना , अतिक्रमण के खीलाफ करवाई , ग्रुप हाउसिंग सोसायटी के रख-रखाव में सरकारी पैसा लगे , जैसे मुद्दों के साथ इलाके के सामुदायिक भवन को प्रभाशाली लोगों से मुक्त करना भी है। लोग डॉ सविता मुखी पर भरोसा कर सकें इसके लिए वह शपथपत्र लोगों को दे रही है। इस शपथपत्र में लिखा है की यदि वे अपने  वादे तय समय में पूरा नहीं कर पायी तो उनके खीलाफ कानूनी करवाई की जा सकती है। डॉ मुखी के समर्थन में ‘आप’ के पूर्व विधायक राजेश गर्ग भी जमकर प्रचार कर रहे है , राजेश गर्ग खुद को किसी पार्टी से जुड़े होने से इनकार कर रहे है , राजेश गर्ग का कहना है की डॉ सविता मुखी की छवि और उनके वादों से रोहिणी की जनता प्रभावित है, ऐसे लोग चुनकर आने चाहिए। 
जिस तरह से डॉ सविता मुखी को आम आदमी पार्टी से जुड़े लोगों और पूर्व विधायक का समर्थन मिल रहा है वह रोहिणी के इस वार्ड में आम आदमी पार्टी का ही खेल नहीं बिगाड़ सकता बल्कि बीजेपी को भी भयभीत कर रहा है। यहाँ से ‘आप’ के पूर्व विधायक राजेश गर्ग दावा कर रहे है की जिन कार्यकर्ताओं ने उन्हें विजयी बनाया था वे सभी और इलाके के बुजुर्ग डॉ सविता मुखी के समर्थन में काम कर रहे है। वजह डॉ सविता मुखी की काबिलियत और नियत है।
इस वार्ड में सबसे ज्यादा वोट ग्रुप हाउसिंग सोसायटी की इन बड़ी बड़ी बिल्डिंग में रहने वाले लोगों के है। बड़ी बड़ी बिल्डिंग होने के इनके  बीच प्रचार करना एक सबसे बड़ा कठिन काम है। लिहाज़ ये हर सोसायटी में जाकर नुक्कड़ सभाएं कर उन्हें कोर्ट का ये एफिडेविड दे रही है। लोग भी यह मान रहे है की सभी पार्टयों को इस तरह एफिडेविट देना चाइये। 
डॉ सविता मुखी के माइंड में ग्रुप हाउसिंग सोसायटी के ये ही नहीं बल्कि हर इलाके और तबके के ये प्लान है। लेकिन जो चुनिदा वादे ये एफिडेविड के साथ  देकर कर रही है यह प्रयोग लोगों को तो पसंद आ रहा है लेकिन दूसरी पार्टियों के लिए परेसानी पैदा कर सकता है। 
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments