रॉबिन हुड आर्मी का मिशन 700

भारत में हर चौथा व्यक्ति भूखा सोता है और हर साल 30 हजार करोड़ रुपए का खाना बर्बाद जाता है। बर्बाद होने वाला ज्यादातर खाना रेस्टोरेंट से होता है। रॉबिनहुड आर्मी ने मिशन 700 की परियोजना के तहत भारत की आजादी के 70 साल होने पर स्वतंत्रता दिवस पर 7 लाख भूखे नागरिकों को देश भर में खाने के पैकेट बांटने के लिए राउंड टोबल इंडिया  से हाथ मिलाया है। रॉबिन हुड आर्मी स्वयं सेवक आधारित संगठन है, जो रेस्टोरेंट में बने अतिरिक्त खाने को देशभर में और 11 अन्य देशों में समाज के कम सौभाग्यशाली वर्गों तक पहुंचाने का काम करते हैं। आरएचए आरटीआई को 30 शहरों में 1 लाख फूड पैकेट ब्रेकफास्ट के तौर पर देगा। रॉबिनहुड आर्मी खाद्य सामग्री बनाने वाले प्रतिष्ठित फूड पाटर्नर्स जैसे रेस्टोरेंट या कैटरर्स से यह फूड पैकेट खरीदेगा। आरएचए यह भी सुनिश्चित करेगा कि खाना ताजा बना हुआ हो और खाने की क्वॉलिटी अच्छी हो।राउंड टेबल इंडिया आरएचए की सलाह यह फूड पैकेट हासिल करेगा और उन स्कूलों में वह फूड पैकेट बांटेगा, जिन्हें वह सपोर्ट कर रहा है। इसके अलावा अनाथों, अस्पतालों और वृद्धाश्रमों में फूड पैकेट बांटे जाएंगे । राउंड टेबल इंडिया ने ग्रामीण, अर्धग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के स्लम्स के 2,172 स्कूलों में करोड़ों रुपये की लागत से 5,377 क्लासरूम बनवाए हैं, जिससे मूलभूत सुविधाओं से वंचित कई बच्चों को फायदा होगा। राउंड टेबल इंडिया का यह मानना है कि बच्चे कल का भविष्य है और हमें वास्तविक अर्थों में राष्ट्र निर्माण के लिए उनके जीवन को सशक्त बनाने की जरूरत है। आरटीआई यह सुनिश्चित करता है कि दान में दिया गया हर रुपया फ्रीडम टु एजुकेशन प्रॉजेक्ट में इस्तेमाल हो। राउंड टेबल इंडिया के अलावा संगठन के सदस्य भूकंप, बाढ़, संक्रामक रोग और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित लोगों की भी सहायता करते हैं।

टिप्पणियाँ
Loading...