कोरोना के ख्याल से रद्द किया श्रद्धांजलि सभा का कार्यक्रम, परिजनों ने कहा हमें समाज की चिंता

-पुनीत गुप्ता, दिल्ली दर्पण टीवी

दिल्ली के रानी बाग़ इलाके में एक बुजुर्ग की मौत हो गई 22 तारीख को रस्म पड़गी और श्र्रदांजली सभा भी आयोजित होनी थी. लेकिन कोरोना पर कल प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद परिवार ने श्र्रदांजली सभा कैंसिल कर दी और बहुत ही छोटे रूप में परम्पराओं को पूरा किया. दिल्ली के रानी बाग़ स्थित रेलवे कॉलोनी के इस घर के मुखिया रेलवे अधिकारी डीएस सिंह का देहांत हो गया 22 मार्च को श्र्रदांजली सभा होनी थी. लेकिन कोरोना के डर से और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान को सुन स्व. डीएस सिंह के परिजनों ने श्र्रदांजली सभा का कार्यक्रम रद्द कर दिया. फैसला लिया की वो बहुत ही छोटे स्तर पर चंद परिजनों की मौजूदगी में श्रदांजलि सभा की रस्म अदायगी करेंगे. परिवार ने भी इनके पुत्र नरेंद्र प्रताप सिंह के इस प्रस्ताव को सर्व सम्मति से स्वीकार कर लिया. दिल्ली में इस परिवार की तरह लोग आगे आकर कोरोना के साथ जंग में इसी तरह लड़ाई लड़ रहे है. भारत जैसे देश में परिवार के मुखिया की मृत्यु पर कई कर्मकांड जरूरी होते है. लेकिन नरेंद्र प्रताप के परिजनों को लगता है की कोरोना को फ़ैलने से रोकना ऐसे कर्मकांड की रस्म अदायगी से ज्यदा जरूरी है. जिस तरह का माहौल दिल्ली में बन रहा है , उसे देख लगता है कि भारत कोरोना के खिलाफ जंग में अन्य देशों से ज्यादा प्रभावी कदम उठा रहा है.

टिप्पणियाँ
Loading...