Thursday, May 23, 2024
spot_img
Homeअन्यSSPF नेशनल क्रिकेट टूर्नामेंट, दिल्ली ने मारी बाज़ी

SSPF नेशनल क्रिकेट टूर्नामेंट, दिल्ली ने मारी बाज़ी

–अभिजीत ठाकुर
दिल्ली। देशभर में स्कूलों के बीच इतना बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट शायद ही कभी हुआ हो।  देशभर में क्रिकेट को ग्राउंड स्तर पर पहुचने के मकसद से हुआ SSPF नेशनल क्रिकेट टूर्नामेंट का फाइनल मैच दिल्ली के भारत नगर क्रिकेट अकादमी में हुआ। यूपी और  दिल्ली के बीच हुए मुकाबले में , दिल्ली की टीम विजेता रही। स्कूल स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन के द्वारा आयोजित इस टूर्नामेंट में देशभर के 15 राज्यों के 800 स्कूलों ने हिस्सा लिया और दो हजार मैच खेले गए। निसंदेह इस टूर्नामेंट ने देश के कोने कोने और दूर दराज के राज्यों के भी प्रतिभाओं को ढूंढ कर खिलाडियों को एक मंच प्रदान किया ।   इस मौके पर मशहूर क्रिकेटर  चेतन शर्मा  भी मौजूद थे। चेतन शर्मा  ने कहा की उनका मकसद है स्कूल लेवल पर ही बच्चों को बड़ा प्लेटफॉर्म देना है। इस टूनामेंट के बाद स्कूल स्तर पर एक नेशनल टीम का भी  चयन किया जायेगा।  
 इस टूर्नामेंट में हर टीम को 3 -3 मैच खेलने का मौक़ा मिला। SSPF से जुड़े प्रमुख लोगों के साथ साथ यहाँ क्रिकेट जगत से जुड़े कई मशहूर चेहरे भी उपस्थित थे।  मशहूर क्रिकेट कोच संजय भारद्वाज ने इन बच्चों को क्रिकेट खेलते देख यह उम्मीद  भी जताई की इनमें कई छात्र अंतराष्ट्रिय स्तर के क्रिकेटर बनने की काबलियत रखते हैं। स्कूल स्तर पर ख़त्म हो चुकी क्रिकेट को ज़िंदा  करने का यह प्रयास उन सभी युवा खिलाड़ियों के लिए उम्मीद की किरण की तरह है जो ऐसे राज्यों से आते हैं जहाँ क्रिकेट को ज्यादा बढ़ावा नहीँ मिल पाया  है। 
  एसएसपीऍफ़  के फाउंडर ओम पाठक भी टूर्नामेंट  के सफल आयोजन से खासे उत्साहित हैं और आने वाले सालों में अन्य खेलों को भी इसमें शामिल करने पर विचार कर रहे हैं।
इस टूर्नमेंट में  विजयी टीम के साथ साथ सभी को सम्मानति किया गया। इन बच्चों के लिए खुद को एक्सपोजर देने का  यह एक बहुत बड़ा मौक़ा था। खास बात ये  की वे इतने बड़े टूर्नामेंट का हिस्सा बने। और कई बड़े क्रिकेट एक्सपर्ट्स से मिलने का मौका मिला।  फाइनल मैच में दिल्ली की जीत के साथ इस टूर्नामेंट का समापन हुआ जिसमें कई मशहूर क्रिकेटर्स और क्रिकेट से जुडी हस्तियों ने शिरकत किया। पूर्व भारतीय क्रिकेटर रतिंदर सिंह सोढ़ी भी युवा क्रिकेटर्स को हौसला देते नज़र आये।
देश में इस तरह का ये पहला बड़ा आयोजन था जो बेहद सफल भी रहा। इस मुहीम के जरिये आयोजकों और क्रिकेट एक्सपर्ट्स को उम्मीद है की वो दूर दराज के इलाकों से भी टैलेंट को आगे ला सकेंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments