घर घर राशन पहुँचाने के लिये आ गई ‘अन्नपूर्णा’ मशीन, एटीएम से निकलेगा राशन


दिल्ली सरकार के डोर स्टेप राशन डिलीवरी का लक्ष्य अब बेहद आसानी से साकार हो सकता है । शुक्रवार को दिल्ली सरकार में उद्योग मंत्री सत्येंद्र जैन के आवास पर एक ऑटोमेटिक राशन वेंडिंग मशीन को प्रदर्शित किया गया जो बिलकुल एक एटीएम की तर्ज पर काम करती है। इस मशीन की खासियत ये है की ये आपके फिंगर प्रिंट या आधार कार्ड से भी लिंक की जा सकती है। एक बार में यह उतना ही राशन निकालेगी जितना इसको कमांड दिया जाएगा लेकिन कोटे से ज्यादा नहीं। इस मशीन के जरिये राशन बँटवारे में होने वाली गड़बड़ियाँ और दिक्कतें भी दूर की जा सकेंगी। डोर स्टेप डिलीवरी के लिये इस मशीन को टेम्पो या किसी भी मालवाहक गाड़ी से जोड़ा जा सकता है जिसके बाद ये जहाँ चाहे पहुंचाई जा सकेगी और उस इलाके में लोगों को घर तक राशन पहुँच जाएगा।

दिल्ली के उद्योग मंत्री ने इस मशीन की प्रसंशा की और इसके प्रदर्शन के दौरान चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के प्रभारी पंकज गुप्ता ने भी माना की इस तकनीक के जरिये न केवल राशन बँटवारे में होने वाली गड़बड़ियों को रोका जा सकता है बल्कि ये बेहद सुविधाजनक भी होगा। इस मौके पर समाजसेवी मनोहर लाल गोयल ने भी इस मशीन की सराहना की और कहा की “भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिये भी यह मशीन उपयुक्त है “। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के स्तर को ध्यान में रखते हुए इस मशीन की निर्माता कंपनी एवरलास्ट ने इसे सोलर एनर्जी और बिजली से चार्ज होने वाली बैट्री से चलाने का प्रस्ताव रखा है। ये मशीन न केवल राशन बँटवारे की पूरी जानकारी सुरक्षित रखेगी बल्कि सन्देश के माध्यम से राशन कार्ड होल्डर के मोबाइल तक भी इसका पूरा विवरण पहुँच जाएगा।
जहाँ एक तरफ पूरे देश से जन वितरण प्रणाली में गड़बड़ियों और घोटाले की खबरें आती रहती है वहाँ ‘अन्नपूर्णा’ नाम से बनाई गई ये राशन वेंडिंग मशीन पारदर्शिता के साथ साथ समय और धन की बचत के साथ साथ राशन वितरण की प्रणाली को बेहद सुविधाजनक भी बनाएगी।

एवरलास्ट कंपनी के प्रबंध निदेशक राज गुप्ता ने बताया की उनकी कंपनी इस तकनीक पर पिछले कुछ वर्षों से काम कर रही थी और अब वह इस मशीन को हर तरीके से करप्शन प्रूफ बनाने में सक्षम हैं। इस मशीन के जरिये चावल , गेहूँ और चीनी वितरण का काम सुलभ तरीके से किया जा सकता है। एक मिनट में यह मशीन कम से कम पंद्रह लोगों को राशन दे सकेगी। एक टेम्पो या ट्रक में बीस मिट्रिक टन तक राशन लोड कर इस अत्याधुनिक राशन वेंडिंग मशीन के जरिये वितरित किया जा सकता है। 50 वर्षों से ज्यादा से भारोत्तोलक मशीनों के निर्माण में सक्रिय अशोका मेटल वर्क्स एंड कंपनी के एवरलास्ट ब्रांड द्वारा भारत देश में बनाई गई यह स्मार्ट राशन वेंडिंग मशीन अगर व्यवहार में लायी जाए तो यह एक क्रांति से कम नहीं। ये मशीनें पूर्णतः देश में ही निर्मित की जाएंगी और इस तरह से केंद्र सरकार के मेक इन इंडिया की मुहीम का भी हिस्सा बनेगी।

टिप्पणियाँ
Loading...