Monday, May 20, 2024
spot_img
HomeDELHI POLICEशक के दायरे मे फिर सिसोदिया, डिजीटल सबूत मिटाने का आरोप,140 फोन...

शक के दायरे मे फिर सिसोदिया, डिजीटल सबूत मिटाने का आरोप,140 फोन बदले बोले संबित पात्रा

प्रियंका रॉय

शराब घोटाले में आरोपी नंबर 1 सिसोदिया: संबित पात्रा

शराब नीति घोटाले में एक बार फिर आम आदमी पार्टी के लिए मुसीबते खड़ी हो गई है। बीजेपी राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने मनीष सिसोदिया पर कट्टर भ्रष्टाचारी के आरोप लगाए है। उनका आरोप है कि शराब घोटाले में डीप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने डीजिटल सबूत मिटाने की कोशिश की है। बीजेपी प्रवक्ता ने आज यानी शक्रवार को एक प्रेय कॉन्फ्रेंस मे कहा कि आबकारी नीति को 5 जुलाई, 2021 को सार्वजनिक किया गया था, लेकिन नीति की एक कॉपी 31 मई, 2021 को मनीष सिसोदिया के दोस्तों को लीक कर दी गई थी, जिसमें निर्माता और कार्टेल शामिल थे।

बेईमान लोंगो की पार्टी उभरी है

जिन लोंगो ने कहा कि ”हम सरकार में नही आयेंगे,हम पार्टी नहीं बनाएंगे हम गारंटी देते है, वो अगले दिन पार्टी बनाकर आये। जिन लोगो ने बोला हम गाड़ी नहीं खरीदेंगें गारंटी देते है,वो आज सरकारी गाड़ी मे घूम रहे है। जिन लोगो ने कहा हम घर नहीं लेंगे गारंटी देते है,उस गारंटी को उन्होंने पैरो तले रौंदा। जिन लोंगो ने कहा हम भ्रष्टाचार की सफाई करेंगे। वह लोगों ने उस गारंटी को तोड़ कर के आज भ्रष्टाचार की प्रकाष्ठा को स्थान दिया है दिल्ली में, आज कट्टर, बेईमान लोंगो की पार्टी उभरी है।”

डिजिटल सबूत को छुपाने की कोशिश

इतना ही नहीं मनीष सिसोदिया ने नई शराब नीति जारी करने से 1 महीने पहले ही अपने यारों/शराब माफियाओं के साथ नई शराब नीति की जानकारी लीक की थी। उन्होंने कहा कि इन्होंने सबूत मिटाने के लिए 140 फोन बदले हैं। वहीं, 140 फोन नए खरीदे गए। डिजिटल सबूत को छुपाने के लिए मनीष सिसोदिया ने ये सब किया। ऐसा करने के लिए 1 करोड़ 20 लाख खर्च किए। डिजिटल सबूत मिटाने की कोशिश की गई है।  

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments