आजादपुर में ट्रक की टक्कर से बुजुर्ग की मौत 

आजादपुर फल मंडी में ट्रक से कुचल कर बुजुर्ग की मौत हो गई।  बुजुर्ग की पहचान मंडी में ही काम करने वाले 55 वर्षीय मूलचंद के रूप में हुई है। वह मूल रूप से आजमगढ़  थे और पिछले 35 साल से मंडी में पल्लेदारी का काम करते थे।  घटना गुरुवार रात 12 बजे के करीब की है।  खास बात यह है कि घटना एपीएमसी के गेट नंबर एक के पास हुई, लेकिन मंडी के गेट पर मौजूद गार्डों ने न तो ट्रक को रोका और न ही उसका नंबर नोट किया। 
       

मृतक मूलचंद के भतीजे विनोद ने बताया कि गुरुवार की रात करीब 12 बजे मूलचंद रोटी खा कर मंडी के एक नंबर गेट के पास लगे नलके पर पानी पीने गए।  पानी पीकर जैसे ही वह अपने न्यू ट्रांसपोर्ट कंपनी की तरफ लौट रहे थे, तभी पीछे से तेज गति से आते एक ट्रक ने उन्हें कुचल दिया। इसमें उनका बायां पैर बुरी तरह से कुचल गया। 

उन्हें पास के ही बाबू जगजीवन राम अस्पताल में दाखिल भी कराया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्दीश शुरू कर दी है।  लेकिन इस मामले ने एक बार फिर मंडी में तैनात गार्डों की भूमिका पर सवाल खड़े कर दिए हैं। क्योंकि दुर्घटना जहाँ हुई वहां एपीएमसी का गेट नंबर एक है, जहाँ 24 घण्टे गार्ड मौजूद रहते हैं , लेकिन इसके बाद भी न किसी गार्ड ने ट्रक को रोका और न ही उसका नंबर ही नोट  किया। 

टिप्पणियाँ
Loading...