कोरोना के कारण फिल्म इंडस्ट्री को भी हो रहा है नुकसान

अविशा मिश्रा, संवाददाता

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर फिल्म इंडस्ट्री के लिए परेशानी का सबब बन चुका है। पिछले एक साल में लगभग 2000 करोड़ का नुकसान झेल चुके बॉलीवुड के अगले कुछ महीनों में 1100 करोड़ रुपए से ज्यादा दांव पर लगे हैं। कोई 11 फिल्में हैं, जो बनकर तैयार हैं और बड़े पर्दे पर उतरने की राह देख रही हैं।

देश में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के बढ़ते जा रहे दायरे के कारण फिल्मों की रिलीज डेट फिर आगे बढ़ाई जा रही हैं। ऐसे में पिछले साल के नुकसान की भरपाई तो दूर, इस साल की कमाई भी मुश्किल में दिख रही है। नवंबर 2020 से मार्च 2021 तक कुछ फिल्में बड़े पर्दे आईं भी, लेकिन उनका जो हश्र हुआ, उसे देखकर भी बॉलीवुड सहमा हुआ है। सिर्फ एक फिल्म ‘रूही’ को छोड़कर बाकी कोई भी अपनी लागत तक निकालने में कामयाब नहीं हुई। सबसे बुरा हाल परिणीति चोपड़ा और अर्जुन कपूर की फिल्म संदीप और पिंकी फरार का हुआ। जो करीब 25 करोड़ की लागत में बनी और महज 35 लाख की कमाई ही कर पाई। ट्रेड एनालिस्ट गिरीश वानखेड़े ने बताया कि 2021 में हिंदी में 50 से ज्यादा बड़ी फिल्में रिलीज होने की उम्मीद थी। दस हजार स्क्रीन्स पर ये फिल्में रिलीज होनी थीं। जो कम से कम 5000 करोड़ की कमाई के आंकड़े को छू सकने का माद्दा रखती थीं, लेकिन 2021 की पहली तिमाही में जो फिल्में रिलीज हुईं, वो बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप रहीं।

दूसरी तिमाही में कोरोना की इस नई लहर ने दस्तक दे दी है, जो आगे जाकर अगर कम हो जाती है, तब भी आधा साल खत्म होने तक बॉलीवुड को 3 हजार करोड़ के आसपास का तो नुकसान होगा ही।कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण फिल्मों की रिलीज पोस्टपोन होना शुरू हो गई है। अप्रैल में ‘चेहरे’, ‘सूर्यवंशी’ और ‘थलाइवी’ और ‘बंटी बबली-2’, मई में ‘राधे’, ‘सत्यमेव जयते-2’, ‘बेल बाटम’ और जून में ‘83’ और ‘शमशेरा’ की रिलीज डेट लगभग फिक्स हो चुकी थी, लेकिन इन्हें स्थितियां सामान्य होने तक इन्हें टाल दिया गया है।

टिप्पणियाँ
Loading...