दो साल से 5 रुपये में देते हैं पेट भर खाना

महंगाई के इस दौर में क्या ये मुमकिन है की केवल 5 रूपये में आप पेट भर खाना खा सकें, वो भी शुद्ध शाकाहारी, तो आप सोचेंगे की सरकार कोई खाने की स्कीम लेकर आएगी, लेकिन सरकार से पहले ही पीतमपुरा में रामकृष्ण स्मारक स्थल पर पिछले 2 सालो से इस तरह का आयोजन किया जा रहा है, जो अपने आप में एक बड़ी पहल है। इस भंडारे के संयोजक जेबी जैन ने बताया की आचार्य श्री सुभद्र मुनि जी महाराज की प्रेरणा से समस्त दीपाली परिवार और सकल जैन समाज रोजाना लोगों के लिए खाने का इंतज़ाम करता है।

जेबी जैन ने बताया की जो भी व्यक्ति यहाँ खाना खाना चाहता है वो अपनी स्वैच्छा से 5 रूपये दे सकता है, इसके 2 मुख्य कारण है, पहला ये की खाने वाले व्यक्ति का स्वसम्मान बना रहता है और दूसरा खाना लोग वेस्ट नहीं करते ।

हालाँकि इस तरह की पहल में लोगो का भरपूर साथ देखने को मिला , हर व्यक्ति ख़ुशी के साथ अपनी जिम्मेदारी निभाता दिखा, सहयोग करने वाले सभी व्यक्ति व्यापारी वर्ग से थे या फिर सेवा निवृत थे, इसके साथ ही संयोजकों ने बताया की रोजाना 1000 लोगों को खाना खिलाने के लक्ष्य के साथ ही अगर कोई 5 रूपये देने में भी असमर्थ है तो भी उसको भरपेट खाना खिलाया जाता है।

आज के समय जंहा ढ़ेरों पैसे खर्च कर जनदिन मनाया जाता है वहीँ यहाँ अपने जन्मदिवस पर लोगों को खुद खाना खिलाने वाला युवा वर्ग भी देखने को मिला। जिन्होंने दिल खोल कर लोगों को खाना खिलाया और कुछ ने जन्मदिवस पर लोगो को केले भी बाटें।

जेबी जैन ने ये भी बताया की यहाँ पर हर दिन अलग खाना बनाया जाता है ताकि लोगों को तरह तरह का खाना मिल सके इसके साथ ही उन्होंने रसोई घर भी दिखाया जहां पर साफ़ सफाई को ध्यान में रखते हुए खाना बनाया जाता है ।

भंडारे का खाना खाने वालो में से काफी लोग रोज़ आने वाले है… जो कई महीनों से यहाँ खाना खा रहे हैं, जिसमें इ-रिक्शा ड्राइवर्स,स्लम के लोग, स्कूल के बस ड्राइवर्स, पास में अनाथ आश्रम के लोग, जिनको बिना शुल्क के खाना पहुंचाया जाता है।

इस तरह की पहल साबित करती है की इरादा अगर नेक है तो परमात्मा भी आपका हमेशा सहयोग देता है और लोग खुद ब खुद आपसे जुड़ते चले जाते हैं।

टिप्पणियाँ
Loading...